Posted by: chawlamahender | October 26, 2008

ढोंगी आसाराम व पाखंडी उसका बेटा

मै सात साल तक (May 1998 -Aug 2005) आसाराम बापू के आशरम मे रहा हूं । मैने भारत के विभिन आसरमॊं (पानीपत,दिलली,ाहमदाबाद,कोटा,इंदॊर,आगरा आदि) मे काम किया और धीरे-धीरे आसाराम का विशवासू आदमी बन गया । फिर आसाराम ने मुझे उसके पूत नारायण सिंधी के साथ लगा दिया । April 2000 से मैं नारायण सिंधि के साथ रहने लगा , और दो – तीन महीने मे ही उसका सबसे नजदीकी आदमी(P.A.) बन गया। वॊ जहां भी जाता मुझे साथ लेकर जाता था।
मै उसके Program की सारी वयवसथा उसके निवास से पंङाल तक की सारी सभांलता था। Program के बाद दशिणा भी दिलानी पडती थी वॊ भी नारायण सिंधि मांगे उतनी करवानी पडती थी। यदि नारायण की मांग के मुताबिक पैसे नही मिले तो मुझे बहुत डंाटता था। इस तरह की गालियां देता था कि कभी हमने College Life मे भी नही सुनी थी और कई बार तो कम दशिणा मिलने पर बहुत बुरी पिटाई करता था। मुझे दिल दहला देने वाली दो घटना याद हैं
१, मेघनगर (झाबुआ-म०प०) —यहां नारायण सिंधी की पिटाई के कारण १५-२० दिन तक मेरे छाती व कान मे बहुत दरद था। आज भी वो दिन याद आते ही मेरे रौंगटे खडे हो जाते है।
२, नाला सोपारा (वसई-ठाणे-महा०)—यहां पर सिंधि की मांग २५१००० की थी जो मै पुरी नही करवा पाया कारण समिती गरीब थी। जिस दिन Program  पुरा हुआ उस रात नारायण सिंधी ने नितिन दिलली वाले को भेजकर दान पेटियां ापने कबजे मे ले ली और मेरी बहुत बुरी पिटाई की और दूसरे दिन रमेश वाधवानी की पिटाई करी।
                                नारायण सिंधी देर रात तक जागता है जब सब लोग सो जाते है तब किसी भी लडकी को रुम मे बुलाता है और उसके साथ संभोग (Sex) करता है। मै उन लडकियों के नाम की सूची,दिनांक,जगह,एवं समय भी बता सकता हूं लेकिन किसी को बदनाम करना मेरा उदेशय नही है। हां यहां पर नारायण के उन दलालो के नाम भी बता सकता हूं परंतु किसी को बदनाम करना मेरा उदेशय नही है।

नारायण खुद को भगवान कनहैया कहता है और लडकियों को गोपी बताकर उनका भोग करता है। भगवान के नाम पर उनका जीवन खराब करता है।


Responses

  1. YES YOU ARE SAYING TRUE


Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Categories

%d bloggers like this: