Posted by: chawlamahender | October 27, 2008

आसाराम बापू की दीवाली…………

जैसा कि मै आपको पहले बता चूका हूं कि मै सात साल तक आसाराम बापू के आशरम मे रह चूका हूं। आईए आपको आसाराम की दीवाली के बारे मे कुछ रोचक चीजें बताएं………………
                                                     आप सभी लोग जानते हैं कि आसाराम को दशिणा मे शाल,कबंल,लोई, सूखा मेवा आदि बहुत बडी संखया मे मिलता है लेकिन आसाराम उस सामान का कया करता है……………..?
                                                     आसाराम के लगभग सभी आशरमों मे दीवाली के दिन दुकान लगाई जाती है और उन दुकानो पर आपके (भगतों के) दिए गए शाल , कबंल आदि को बेचा जाता है। जब मै वंहा पर था तब तो ये धंधा होता था , आज कयोंकि ये मैने बलाग लिख दिया है इसलिए इसबार पता नहीं दुकान खुलेगी या नही ?
                                                     लोग शरधा से नारियल दे जाते हैं और आसाराम उनकी मिठाई बनाकर बेचता है। एक तरफ तो आसाराम मिठाई न खाने की सलाह देता और दुसरी तरफ उसके ही आशरम मे मिठाई बेचता है।
                          लोग शरधा से सामान दे जाते हैं और आसाराम उस सामान से लाखों रुपये कमाता है। आशरम के लडको को मिठाई नही दी जाती । शरदी मे कितने लडकों के पास सवेटर और जरसी होती है ये भी आप जाकर सरवे कर सकते हैं………….?
                                                    आसाराम के पास  सवेटर और जरसी की कोई गिनती नही है लेकिन लडकों को एक सवेटर भी बडी मुशकिल से नसीब होता है। शरदी के कारण पैर फट जाते हैं लेकिन जूते नही मिलते। यदि किसी को जूता डालना है तो उसके खुद के घर से ही मंगवाना पडता है।
                           आसाराम लडकों से मजदूरी करवाता है, उनके जरिए पैसा कमाता है और ऐश करता है , मौज मनाता है एवं दुनिया के सामने संत बनने का नाटक करता है।
                           जैसे जरासंध की जेल बहुत से राजा कैद थे उसी तरह आसाराम के आशरम मे भी बहुत से लडके और लडकियां आंधी विशवास के कारण फंसे हुए हैं।
                           तो आइए हम सब भगवान की वंदना करें ताकि सभी लडके एवं लडकिया आसाराम की मानसिक जेल से बाहर निकले एंव उनके – उनके घर जाएं ताकि उनके माता भी दिवाली मना सकें।
                                                                                                               वंदे मातरम

कोई तो बताए.. आखिर आसाराम बापू को गुस्सा क्यों आता है

नई दिल्ली।

कहते हैं कि संतों को क्रोध करना शोभा नहीं देता। लेकिन ऐसा क्यों होता है कि संत आसाराम बापू को गुस्सा आ जाता हैं। वैसे तो देश के लाखों भक्तों के बीच आसाराम बापू की छवि एक सदभावी संत और सन्यासी की है। लेकिन जब आसाराम बापू पर आरोप लगते हैं या उन्हें जबरदस्ती नियमों का पालन करने का दबाव डाला जाता है तो भक्तों के साथ साथ खुद आसाराम बापू को भी गुस्सा आ जाता है। पिछले दिनों ऐसे ही विमान में सीट बैल्ट बांधने के आग्रह पर आसाराम बापू गुस्सा हो गए थे। इससे पहले भी कई बार आसाराम गुस्साए हैं।

आश्रम पर सवाल पूछो तो आता है गुस्सा आसाराम पर पिछले साल आरोप लगाया गया कि उनके आश्रम में दो बच्चों की मौत के जिम्मेदार वो हैं। अहमदाबाद स्थित आसाराम के आश्रम में दो बच्चों की संदिग्ध मौत हो गई थी। इस संबंध में आसाराम और उनके बेटे नारायण सांई के खिलाफ मामला चल रहा है। आफत ये है कि जब भी आसाराम बापू से इस संबंध में बात की जाती है वो गुस्सा हो जाते हैं। उन्हें बहुत क्रोध आता है ये सफाई देते हुए कि बच्चों की मौत के लिए वो जिम्मेदार नहीं।
बेटे की बुराई सुनकर आता है गुस्सा संत और सन्यासी होने के बावजूद आसाराम बापू पुत्र मोह के शिकार हैं। जब उनके बेटे नारायण सांई पर गुजरात के हिम्मतनगर में जमीन घोटाले के आरोप लगे तो आसाराम बापू बौखला गए। उन्होंने विरोधियों और मीडिया पर जमकर गुस्सा उतारा।
रामदेव को सताया तो गुस्सा आया कालेधन पर आंदोलन करने वाले बाबा रामदेव पर पुलिसिया कार्रवाई पर आसाराम बापू को जबरदस्त गुस्सा आया। इसी कारण उन्होंने यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ जमकर बयानबाजी की। रायपुर में प्रवचन के दौरान आसाराम बापू ने कहा कि संतों को सताने वाला कभी सुखी नहीं रह सकता। उन्होंने कहा कि रामदेव पर अत्याचार करने वाली सोनिया को देश छोड़कर चले जाना चाहिए।
नियम का पालन करने में आता है गुस्सा बापू यूं तो भक्तों से नियम और संयम का पालन करने को कहते हैं लेकिन असल जीवन में नियमों का पालन नहीं करते। तीन दिन पहले जब बापू इंडिगो विमान से वडोदरा से दिल्‍ली आ रहे थे तो उन्होंने नियमों की बात पर विमान में ही जमकर हंगामा किया।  सूत्रों के मुताबिक चेक इन काउंटर पर देरी से पहुंचने की वजह से उन्‍हें काउंटर पर तैनात कर्मचारी ने बोर्डिंग पास देने से इनकार कर दिया। इस पर बापू के समर्थकों ने हंगामा कर दिया जिसके बाद उन्‍हें बोर्डिंग पास दे दिया गया। यही नहीं विमान के क्रू मेंबर ने जब उनसे सुरक्षा हेतु सीट बैल्ट बांधने को कहा तो गुस्से से लाल पीले होकर बापू छाती तक पीटने लगे।
सवाल -क्या आपको लगता है आसाराम बापू को जायज चीजों पर गुस्सा आता है? क्या संत होने के नाते उनका गुस्सा सही है?

http://www.amarujala.com/Zara-Idhar-Bhi/Why-the-anger-comes-after-Asaram-Bapu-729.html#userOpn

खबर पर अपनी राय दें

Posted by: chawlamahender | July 12, 2010

Asaram ashram loses gaushala land in Surat

Asaram ashram loses gaushala land in Surat
Asaram ashram loses gaushala land in Surat

Posted: Sun Jul 11 2010, 02:49 hrs
Surat:
Following a High Court order, district officials have taken possession of 34,400 sq metres of land at Jehangirpura in Surat on which the ashram run by spiritual leader Asharam Bapu had built a temple and a gaushala (cowshed) and had been depositing a monthly installment of Rs 70,000 at the district collector office for the past two years.

Sources said district officials and the police went into the ashram at Jehangirpura and asked told the ashram people to vacate the land, which they did without any resistance.

The team then got the debris removed and took possession of the land.

The irrigation department had acquired agricultural land on the banks of Tapi River to make a protection wall. However, 34,400 square metres of land was left unused following which the department started the process of returning the excess land to farmers who first owned it.
The ashram on its neighboring side, meanwhile, started encroaching the land and built a temple and a gaushala on it.

Anil Vyas, a farmer, filed a petition before the Gujarat High Court, which directed the district collector to take possession of the land. Asharam Bapu, who wanted some time to challenge the order, was asked to pay Rs 70,000 a month at the district collector’s office for the interim period.

Choryasi Prant mamlatdar Deepak Shukla said, “We have taken possession of the land. The ashram people also cooperated with us.”

http://www.indianexpress.com/news/Asaram-ashram-loses-gaushala-land-in-Surat/644832

आसाराम को अल्टीमेटम, टैक्स जमा करो
दैनिक भास्कर

Wednesday, Mar 10th, 2010, 12:13 pm [IST]
अहमदाबाद. आध्यात्मिक गुरू आसाराम बापू और मुसीबत का अब लगता है बहुत गहरा रिश्ता जुड़ चुका है। तभी तो आए दिन उनपर कुछ न कुछ मुसीबत आती ही रहती है। अहमदाबाद नगर निगम ने आज आसाराम बापू को नोटिस जारी करते हुए उन्हें चेतावनी जारी की है कि वे जल्द से जल्द प्रॉपर्टी टैक्स जमा कर दें।

नगर निगम ने कहा है कि अगर वे जल्द से जल्द टैक्स नहीं जमा करते तो हम उनके आश्रम को सील कर देंगे। गौरतलब है कि आसारम बापू ने पिछले दो साल से प्रॉपर्टी टैक्स नहीं जमा किया है। इसके पहले भी अवैध आश्रम बनवाने, साधक की हत्या के प्रयास, पुलिस प्रशासन पर उनके कार्यकर्ताओं द्वारा हमला, आश्रम में तंत्र-मंत्र जैसे मामलों में आसाराम बापू और उनके बेटे पर कोर्ट में मामले चल रहा है।

आसाराम बापू(ਆਸਾਰਾਮ ਬਾਪੂ) की कॉशन याचिका खारिज

अहमदाबाद। आश्रम में दो बच्चों की संदिग्ध अवस्था में हुई मौत मामले में फंसे आसाराम बापू की मुश्किलें फिलहाल कम होती नजर नहीं आ रही हैं। अहमदाबाद हाईकोर्ट ने आज आसाराम बापू की कॉशन याचिका को खारिज कर दिया। आसाराम ने हाईकोर्ट से पूर्व साधक राजू चांडोक पर जानलेवा हमला कराने संबंधी खुद पर लगे आरोप को खारिज करने की अपील की थी। कॉशन याचिका के खारिज होने के बाद अब माना जा रहा है कि आसाराम बापू की गिरफ्तारी किसी भी वक्त हो सकती है।

उल्लेखनीय है कि राजू चंडोक ने आसाराम बापू पर जानलेवा हमला कराने का आरोप लगाया है। इस मामले में आसाराम के खिलाफ गत रविवार को हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया गया है। राजू चंडोक ने आसाराम आश्रम में पिछले साल दो बच्चों की संदिग्ध अवस्था में हुई मौत मामले की जांच कर रही जी. के. त्रिवेदी आयोग के समक्ष आसराम बापू के खिलाफ बयान दिया था। राजू ने अपने बयान में आसाराम के चरित्र पर भी ऊंगली उठाई थी। राजू चांडोक का आरोप है कि इस बयान की वजह से ही आसाराम बापू ने उसे जाने से मारने की कोशिश की।

आसाराम बापू बौखलाए, मोदी को दी चुनौती
08 दिसंबर, 2009
अहमदाबाद/मुंबई। अपने ऊपर हत्या की कोशिश के इल्जाम और आश्रम के साधकों पर कार्रवाई से आसाराम बापू बौखलाए हुए है। आसाराम बापू को लगता है कि गुजरात सरकार उनके साथ ज्यादती कर रही है उन्होंने कहा इन झूठे केस के बीच मै तो यहां मौज में हूं। लेकिन जब बच्चों पर अन्याय होता है, तो मै दुर्वासा का रूप ले लेता हूं।
वाह मुख्यमंत्री देखे तुम्हारी गद्दी कैसे और कब तक रहती है। आसाराम बापू के आंसूओं और गुस्से के बावजूद आरोपों का सिलसिला थम नहीं रहा। बापू के बेटे नारायण साई पूर्व सीए महेन्द्र चावला ने दोनों पर कई संगीन आरोप लगाए। है। महेन्द्र चावला का दावा है कि उसके पास बापू और उनके बेटे के खिलाफ कई संगीन मामलो के सबूत है। यानी आसाराम बापू के लिए आने दिनों मुश्किले और बढ सकती है।

Asaram Bapu Ashram 7 followers are wanted for Gujrat Police
1. Asaram Bapu : 7 Chelas wanted : Gujrat Police : Sandesh Gujrati News Paper

Name : Kaushik Popat Lal Vani Basically from Nandurbaar – Maharashtra

Post : Asaram’s chief cashier, who invest the the amount donated BY YOU ie Fund Manager of Asaram Bapu Ashram. 18 years with Asaram
Knows everything about Dipesh n Abhishek

2.

Name – Ajay Rasik Lal Shah from Indore (MP), 20Yeras with Asaram

Married but no daughter no son

Wife staying at Indore, Father On bedrest near to death n want to meet his son but son is Asaram’s the chief of Asaram fraudester Committe n Knows everything about Dipesh n Abhishek.

3. Vikash Khemka 15 years with Asaram,
from Haryana, parentes staying permanantly at Surat

4.
Uday Naveen Chander Sanghani, 15 Years with Asaram, from Mulund Mumbai , Father is running Bakery n want back Uday at Home
Editor Lokkalyan setu, Also see the matters of Police , Media and court

5.
Pankaj Saxena, from Jhansi(UP), 10 years with Asaram,

6.
Meen Ketan Patra, from Chhinwada (MP),8 years with Asaram
editor Rishi Parshad

7.
Yogesh Manohar Lal Bhati, from Rajasthan

for more details pls visit : http://www.sandesh.com/sandesh_article.aspx?newsid=136750#

अहमदाबाद। अहमदाबाद की सेशन कोर्ट ने आज आसाराम बापू के आश्रम के दो बच्चों की संदिग्ध अवस्था में हुई मौत के मामले में सात साधकों की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी। अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद अब सातों साधकों की गिरफ्तारी किसी भी समय हो सकती हैं। इन सभी के खिलाफ लापरवाही का मामला दर्ज किया गया हैं।

गौरतलब है कि पिछले साल आसाराम बापू के आश्रम में दो बच्चों के लापता होने के बाद उनके शव साबरमती नदी के किनारे से बरामद हुए थे। पुलिस ने इस मामले में आसाराम बापू के सात शिष्यों पर केस दर्ज किया हैं। इस मामले को लेकर पुलिस और आसाराम बापू के अनुयायियों के बीच झडप भी हुई थीं, झडप के बाद पुलिस ने गत शुक्रवार को आसाराम के मोतेरा स्थित आश्रम में छापा मारकर 150 लोगों को गिरफ्तार कर लिया था। आसाराम बापू के अनुयायियों की गांधीनगर में गुरूवार को रैली के दौरान पुलिसकर्मियों पर पथराव किया गया था। इसमें गांधीनगर के एसपी और अन्य पुलिस अफसरों समेत 20 पुलिसवाले घायल हो गए थे। http://www.khaskhabar.com/showstory.php?storyid=14129

Posted by: chawlamahender | November 30, 2009

Ashok Singhal VHP Leader visited Asaram Bapu Ashram Ahmedabad Gujrat

VHP’s Singhal visits Asaram Bapu ashram to broker peace 30/11/2009
Ahmedabad: VHP leader Ashok Singhal visited controversial religious figure Asaram’s ashram at 5.30 in the early morning today and subsequently he met Chief Minister Narendra Modi.

It is learnt that Singhal tried to broker a deal between Asaram and the Modi government.

“He visited Asaram ashram in early morning and after that he went to call on Chief Minister Narendra Modi,” a top VHP leader told PTI.

He added that the local leaders of VHP were not in favour of VHP offering any kind of direct or indirect support to Asaram, whose followers had beaten up around 20 policemen including Gandhinagar SP on November 25.

The incident had occurred when hundreds of followers of Asaram were prevented from entering collector’s office in Gandhinagar where they wanted to submit a memorandum.

So far more than 200 disciples of Asaram were arrested by the police, who were allegedly part of the mob that attacked police.

Subsequently, the police had raided Asaram’s ashram at Motera in the city and more than 150 disciples were detained.

“It seems that Asaram, who is being cornered locally, wants VHP and its leaders to support him or broker a deal with the Modi government,” a VJP leader said.
According to him, the local leaders refused to support Asaram because public sentiment in the state is against him.

The Asaram ashram was in news last year when two boys from the ashram went missing and their bodies were recovered from the banks of river Sabarmati. The police had filed a case against seven of Bapu’s disciples.

Following the incident, a mass agitation was launched in Ahmedabad which forced the State government to set up a commission of inquiry by a retired High Court judge to probe the alleged murder of two boys.

http://news.in.msn.com/national/article.aspx?cp-documentid=3459722

आसाराम बापू के अहमदाबाद आश्रम पर पुलिस का ताला
आईबीएन-7 Fri, Nov 27, 2009
अहमदाबाद। पुलिस ने आसाराम बापू के अहमदाबाद स्थित आश्रम पर छापा मार कर उनके 200 साधकों को हिरासत में ले लिया है और आश्रम में ताला जड़ दिया है।
पुलिस उन लोगों की तलाश में है, जिनपर गुरुवार को पुलिसकर्मियों पर पत्थरों से हमला करने का आरोप है। इस पथराव से पुलिस अधीक्षक, उपपुलिस अधीक्षक सहित दस पुलिसकर्मी जख्मी हो गए थे।
जवाब में पुलिस ने आश्रम समर्थकों पर लाठियां भांजीं और आंसू गैस के गोले छोड़े। इसके बाद करीब 200 लोगों को हिरासत में लिया गया है। इन सब पर दंगा भड़काने और पुलिस पर हमले का आरोप लगाया गया है।
पुलिस और आश्रम समर्थकों के बीच झड़प की शुरुआत डीएम को ज्ञापन देने की बात पर हुई थी। दरअसल आश्रम समर्थक एक अखबार के खिलाफ डीएम को ज्ञापन देना चाहते थे। इसके लिए योग वेदांत समिति की ओर से गांधीनगर में रैली निकाली गई।
भीड़ ज्यादा थी लिहाजा पुलिस ने कहा कि सिर्फ 3-4 लोग ही डीएम से मिल सकते हैं। इसपर भीड़ उग्र हो गई और उसने हंगामा शुरू कर दिया। पुलिस सूत्रों का कहना है कि कल हुई भिड़ंत में शामिल कई लोग अहमदाबाद स्थित आश्रम में छुपने चले गए। हालांकि, आश्रम के लोगों का कहना है कि पुलिस जानबूझकर आसाराम के साधकों को परेशान कर रही है।

http://khabar.josh18.com/news/23764/1

http://khabar.josh18.com/videos/23764

Posted by: chawlamahender | November 28, 2009

Asaram Bapu Ashram Raid : 150 Arrested

आसाराम बापू के आश्रम पर छापा, 150 अरेस्ट
27 Nov 2009, 2016 hrs IST,एजेंसियां अहमदाबाद ।।
पुलिस और आसाराम बापू के अनुयायियों के साथ झगड़े के सिलसिले में शुक्रवार को आसाराम के मोतेरा स्थित आश्रम में छापा मारकर 150
लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया।

आसाराम बापू के अनुयायियों की गांधीनगर में गुरुवार को रैली के दौरान पुलिसकर्मियों पर पथराव किया गया था। इसमें गांधीनगर के एसपी और अन्य पुलिस अफसरों समेत 20 पुलिसवाले घायल हो गए। इसके बाद पुलिस ने बापू के 180 अनुयायियों को अरेस्ट कर लिया, जिनमें 47 महिलाएं भी हैं।

गौरतलब है कि पिछले साल आसाराम बापू के आश्रम में दो लड़कों के लापता होने के बाद उनके शव साबरमती नदी के किनारे से बरामद हुए थे। पुलिस ने इस मामले में आसाराम बापू के सात शिष्यों पर केस दर्ज किया है। गुरुवार की रैली का मकसद यहां के डीएम को एक ज्ञापन सौंपना था, जिसमें यह दावा किया गया है कि यह मामला उनके गुरु को फंसाने के लिए सुनियोजित साजिश का नतीजा है। जब अनुयायियों ने ज्ञापन सौंपने के लिए गांधीनगर के डीएम ऑफिस में घुसने की कोशिश की तो उन्हें रोका गया। गुस्साए लोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। http://navbharattimes.indiatimes.com/articleshow/5276353.cms

Older Posts »

Categories

Follow

Get every new post delivered to your Inbox.